Uttar Pradesh-Madhya Pradesh-Rajisthan-Haryana-Gadhwal Astrological Predictions April-May 2017

Central_India Astrological Predictions-Amit KAushik Astrology
Central_India Astrological Predictions-Amit KAushik Astrology

सर्वप्रथम भगवान सूर्य को प्रणाम करता हूँ जो सम्पूर्ण जगत को प्रकाशित करते हैं और अज्ञान और समस्त रोगों का नाश करते हैं ऐसे भगवान् सूर्य का मैं बार बार वंदन करता हूँ !
घटना क्रम आजीवन चलता रहता है भूत वर्त्तमान और भविष्य की घटना को और घटना के समय को खोज निकलने का दिव्या ज्ञान ज्योतिष शास्त्र कहलाता है ऐसे तीनो कालो का ज्ञान कराने वाले इस ज्योतिष शास्त्र को भी मैं प्रणाम करता हूँ

पाँच राज्यो के चुनाव संपन्न हुए भगवान सूर्य की कृपा से मेरे द्वारा दी गयी भविष्यवाणियां सही साबित हुई हाल ही में पड़े दो ग्रहण पर भी मैंने भविष्यवाणी दी थी वह भी सही साबित हुई जिसमे रेल दुर्घटना और विमान दुर्घटना का जिक्र था -वर्ष २०१७ से २०२० तक की भारत वर्ष की मेरे द्वारा दी गयी भविष्यवाणियॉ भी सही उतरती जा रही हैं अभी आगे बढ़ते हुए मध्य भारत पर कुछ लिखना चाहूंगा!

ज्योतिष शास्त्र में बहुत ही सुन्दर और उपयोगी बहुमूल्य चक्रो का वर्णन है जिसमे कूर्म चक्र -सर्वतो भद्र चक्र -चंद्र कनाल चक्र -कोटा चक्र जैसे उपयोगी चक्रो और विधि का विवरण मिलता है कुंडली शास्त्र तो अपने आप में प्रचिलित है ही साथ में यह चक्र भी देश विदेश समस्त जीव के भूत वर्त्तमान और भविष्य की घटनाओ पर नज़र डालने में एक दीपक की भांति बहुत सहायक सिद्ध होते हैं !

अभी हाल ही ने नार्थ इंडिया पर भी भविष्यवाणी दी थी वह भी सत्य उत्तर रही है यह अभी जारी रहेगा इसमें कश्मीर ,सिक्किम ,भूटान ,अरुणाचल प्रदेश हैं ,इन जगह पर आने वाले ७ वर्षो में बड़े पैमाने पर बदलाव होंगे दिनांक १३ अप्रैल से १२ जून का समय उपरोक्त राज्यो के लिए उपयुक्त नहीं रहेगा !

मध्य भारत की बात करें तो मध्य भारत में उत्तर प्रदेश,मध्य प्रदेश ,छत्तीसगढ़ ,राजिस्थान ,हरयाणा और गढ़वाल दिनांक २२ अप्रैल २०१७ से दिनांक २ जुलाई २०१७ तक प्रभावित रहेंगे ,इस दौरान भारतीय सेना के जवानों व अफसरों को भी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है -आतंकवाद जैसे पहलू पर विशेष इन राज्यो की सुरक्षा का ध्यान रखना आवश्यक होगा ,आगजनी की घटना -विस्फोट एक्सीडेंट्स इन राज्यो से समाचार की सुर्खी बटोर सकते हैं

ये सभी भविष्यवाणियां प्रश्न कुंडली सर्वतोभद्र चक्र कूर्म चक्र और सभी ९ ग्रहो के गोचर स्तिथि को ध्यान में रख कर कर रहा हूँ …
अमित कौशिक

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s